Skip to main content

Posts

Showing posts from June, 2020

.

एटीएम के फुल फॉर्म क्या होती है? ATM Full Form In Hindi

What is the full form of ATM? जैसा कि आप सब लोग जानते हैं कि एटीएम आज सबके पास है. हम अपनी छोटी-छोटी पेमेंट भी ATM Card के द्वारा कर देते हैं. या अगर हमें कभी भी जल्दी कैश निकालने की जरूरत होती है, तो हम ATM मशीन के द्वारा कैश निकाल सकते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि ATM की फुल फॉर्म क्या है ? (ATM Full Form In Hindi) ATM की फुल फॉर्म जानना हमारे लिए जरूरी है क्योंकि बहुत सारे Competition परीक्षाओं में भी यह प्रश्न बार-बार पूछा  गया है. लेकिन हमें इसकी सही जानकारी ना होने के कारण हम उसका अलग जवाब दे देते हैं. आज हम आपको बताएंगे ही ATM फुल फॉर्म क्या है (What is ATM Full Form). बहुत से लोग सोचते हैं कि ATM की फुल फॉर्म है "एनी टाइम  मनी" "Any Time Money"  लेकिन यह सही नहीं है यहां हम आपको आज एकदम सही जानकारी  देंगे "ATM Full Form In Hindi" दुनिया में एटीएम मशीन को अलग-अलग नामों से भी पुकारा जाता है ऐसे कनाडा में ATM मशीन को ABM - Automatic Banking Machine कहा जाता है. किसी किसी देश में ATM  को  Cash Point, Banking Machine  के नाम से जाना जाता ह

ओके का फुल फॉर्म क्या है ? What is the full form of Ok.

Ok Full Form | Ok History | Ok Ke Full Form.  Ok Ka Full Form. आज हम ओके के फुल फॉर्म के बारे में जानेगे. एक प्रश्न आपके मन में कभी ना कभी ज़रूर आया होगा, की ओके की फुल फॉर्म क्या है? What is the full form of Ok, ज़ादातर लोग सोचते है के OK के कोई फुल फॉर्म नही होती. हिंदी में  Ok  का मतलब होता है "ठीक है"  या "सही है"  और इंग्लिश में " Fine", "I Agree"  आदि .  आज हम आप को बताएगे के OK का क्या फुल फॉर्म है, और OK शब्द की उत्पति कहा से हुई है. और Ok full form in Hindi का उपयोग कहा कहा  कहा  होता है.  ओके के फुल फॉर्म क्या है. (Full Form Of OK)  Ok की फुल फॉर्म बोहत आसान है. Ok का फुल फॉर्म है "All Correct". इस के साथ साथ  Ok  एक ऐसा शब्द है जो दुन्या में सब से ज़ादा बोला जाता है, और यह बोहत ही कॉमन भी है. चाहे कोई इंग्लिश जनता हो या नही वो  Ok  आराम से इस्तिमाल कर लेता है. कुछ रिसर्च में भी ये साबित हुआ है की Ok हेलो से भी ज़ादा बोलने वाला शब्द है. Ok को आप न्यूज़ पेपर में, नावेल में और किताबो में बोहत आसानी से देख सकते है. ज़ादा त

100 महतवपूर्ण शार्ट वर्ड्स और उनकी फुल फॉर्म (100 Important Full Form For Daily Use)

Important Full Form. You Must Know कुछ शब्द ऐसे होते है जिन्हे हम रोज़ सुनते है लकिन हमे उसकी फुल फॉर्म का पता नही होता। इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे 100 शार्ट वर्ड्स (Short words Full Form) के बारे में बतायेगे जिस का बहुत ज़ादा उपयोग है लकिन हमे उन शब्दों की जानकारी नही है।   Some very useful short words with its full form. You must have knowledge about all these. 100 Most Important Full Form 1 - AC -  Alternating Current 2 - AIDS -  Acquired Immune Deficiency Syndrome. 3 - ATM -  Automated Teller Machine 4 - B.Ed -  Bachelor of Education 5 - B.Tech -  Bachelor Of Technology. 6 - B.Ds -  Bachelor of Dental Surgery 7 - BBC -   British Broadcasting Channel 8 - BCCI -   Board of Control of Cricket in India. 9 - BHIM - Bharat Interface for Money 10 - BIOS - Basic Input Output System. 11 - BMW - Bayerische Motoren Werke 12 - BPO - Business Process Outsourcing 13 - BSF - Border Security Force 14 - CA - Chartered Accountant 15 - CAA - Citizenship Amendment Act 16 - CAD - Computer Ai

कंप्यूटर में प्राइमरी और सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस क्या हैं?

What are primary and secondary storage devices in computer? हमारा कंप्यूटर को डाटा इकठा करने के लिए कई अलग-अलग स्टोरेज का उपयोग करना पड़ता है. जैसे प्राथमिक स्टोरेज (Primary Storage) और सेकेंडरी स्टोरेज (Secondary Storage). प्राइमरी स्टोरेज को हम RAM - रैंडम एक्सेस मेमोरी के नाम से जानते है, और सेकेंडरी स्टोरेज, यह सेकेंडरी स्टोरेज कंप्यूटर के अंदर हार्ड ड्राइव को कहा जाता है.  RAM  रैंडम एक्सेस मेमोरी में डाटा जब तक रहता है जब तक हमारा कंप्यूटर ON रहता है, जैसे ही कंप्यूटर ऑफ हुआ RAM का सारा डाटा चला जाता है. इसे लिए RAM को Volatile मेमोरी भी कहा जाता है. हार्ड ड्राइव HDD में डाटा एक बार स्टोर हो जय तो वो जब तक हम उसे Delete नही करते वो वही सेफ रहता है. हार्ड डिस्क ड्राइव हमारे कंप्यूटर के हार्डवेयर का ही पार्ट होती है. ९५% कंप्यूटर में ये पहले से हे फिट होते है, क्यों के इस क बिना कंप्यूटर में कुछ भी स्टोर नही कर सकते आप की परीक्ष में पूछे जाने वाले कुछ ज़रूर सवाल। 1 - कंप्यूटर की प्राइमरी स्टोरेज और सेकन्डोरी स्टोरेज में क्या अंतर है ? ( What is difference between primary

नेटवर्किंग क्या है? What is Networking?

Networking Kya Hoti Hai... दोस्तों आज हम आप को नेटवर्किंग के बारे में बताएगे.  नेटवर्किंग कंप्यूटर सिस्टम का एक बहुत शक्तिशाली और महत्वपूर्ण क्षेत्र है. इंटरनेट नेटवर्किंग के बिना कुछ भी नहीं है। आप जो भी ऑनलाइन शॉपिंग, इंटरनेट बैंकिंग, या जो आप के ऑफिस में कंप्यूटर एक दूरसे से कनेक्ट होते है वो  नेटवर्किंग के कारण ही होते है. नेटवर्किंग के सहायता से आप  बहुत कुछ कर सकते हैं।  आज हम जानेगे की कंप्यूटर की जगत में सबसे परिचित शब्द नेटवर्किंग की बारे में. नेटवर्किंग क्या है और हम नेटवर्किंग के साथ क्या क्या कर सकता है? चलए शरू करते है. नेटवर्किंग क्या है ? What is Networking ? Networking कंप्यूटर जगत का एक बहुत ही बढ़िया फील्ड है। नेटवर्किंग अपने आपमें एक बोहत बड़ी दुनया है जहा करोड़ो लोग इस से रोज़गार हासिल कर रहे है. आज ज्यादातर लोग इंटरनेट का उपयोग करते है जिस से वो ऑनलाइन शॉपिंग, ऑनलाइन बैंकिंग और सोशल नेटवर्किंग जैसी विभिन्न सेवाओं का लाभ उठाते है। ये सारी चीजें सिर्फ नेटवर्किंग की वजह से हो रही हैं। नेटवर्किंग के बिना इंटरनेट एक कल्पना मात्र है। इंटरनेट का मतलब ही होता है नेटवर्को

हिंदी लिखने की लिए सब से अच्छे सॉफ्टवेयर या वेब साइट कौन सी है ?

क्या हम ऑनलाइन हिंदी टाइपिंग कर सकते है? हिंदी भारत की नेशनल भाषा है. आज इंटरनेट पर भी हिंदी भाषा का बौहत प्रचलन है. लोग हिंदी पढ़ना और लिखना पसंद करते है. पढ़ने की लिए तो बौहत सही वेब साइट या किताबे आप को मिल जाएगी लकिन आप को अच्छे सॉफ्टवेयर काम ही मिलेगे. पहले ऑनलाइन या किसे सॉफ्टवेयर के सहायता से हिंदी में कुछ भी लिखना बौहत ही मुश्किल था. लकिन अब ऑनलाइन हिंदी में लिखना या किसे भी भाषा को हिंदी में ट्रांसलेट करना बोहत ही आसान है.  अगर आप हिंदी लिखने का शौक रखते है, तो हम यहाँ आप को पूरी जानकारी देंगे की आप बौहत अच्छी हिंदी कैसे लिख सकते है, वो भी बोहत आसानी के साथ. आप को कोई भी हिन्द के कीबोर्ड को याद करने की ज़रूरत नही है और ना ही किसे मात्रा को याद रखने के ज़रूरत है. आप अपने कंप्यूटर के इंग्लिश के कीबोर्ड से ही हिंदी आसानी से लिख सकते है. आज हम बात करे ही सब से अच्छे कुछ सॉफ्टवेयर की बारे में जिस की सहायता से आप हिंदी में  कुछ भी आसानी से लिख सकती है वो भी बिना कोई गलती किये हुए. ये सॉफ्टवेयर आप को ऑनलाइन मिल जयगे. लकिन आप के पास इंटरनेट होना ज़रूरी है, क्यों की यह सॉफ्टवेयर इंटरनेट क

कोरोना वायरस क्या है? कोरोना वायरस से कैसे बचे?

कोरोना वायरस क्या है? What is Corona Virus ? कोरोना वायरस एक खतरनाक बीमारी है, और यह बीमारी एक महामारी का रूप ले चुकी है, आप को ये जानना ज़रूरी है की इस बीमारी से कैसे बचा जय, और आप इस बीमारी से कैसे अपना और अपने परिवार का बचाओ कर सकते है. वो भी बोहत आसानी से. इस के लिए आप को बस कुछ नियमो का पालन करना होगा. कोरोना वायरस से कैसे बचे?  1 - अपना मुँह ढक कर रखें, इस पर माक्स ज़रूर लगा कर रखे. जब भी आप को खांसी या छीक आय तो आप अपने मुँह को कवर केरे, रुमाल के दुवारा या अपने कपड़ो की सहायता से. कोशिश करे के आप ज़ादा भीड़ भाड़ वाले क्षेत्र में ना जाए. ज़ादा   भीड़ भाड़ वाले क्षेत्र कोरोना वायरस फलने के चान्सेस बोहत ज़ादा होते है.  2- जब भी बहार निकले काम से काम एक मीटर की दुरी बनाई रखे. बहार जाते समय यह ध्यान रखें कि  किसे से हाथ ना  मिलाएं, किसी से ज्यादा पास जाकर बात ना करें। अगर आप कुछ सामान खरीदने गए हैं तो दुकानदार को दूर से ही पैसे दें, और दूर से ही सामान ले. वहां पर खड़ी भीड़ में भी ना जाए. 3- घर वापस आने की बाद अपने हाथ साबुन से 20 सेकण्ड्स तक धोये और अपने कपड़े उत्तार कर उसे धुप में रखे, या धो

इंटरनेट से जुड़ी कुछ महतवपूर्ण जानकरी .

Q.1- इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है ? ( What is Internet and how it works?) Ans : इंटरनेट स्पेशल कम्प्यूटर्स का एक बोहत बड़ा नेटवर्क है जिसे हम राऊटर कहते है.हर राऊटर का एक अपना काम होता है, उसे जो कमांड या इनफार्मेशन मिले है उसे एक स्थान से दूसरे स्थान तक पोछना होता है एक दम सही पते पर. एक पैकेट जब एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाता है तो कई रॉयटर्स से गुज़रता है, जब एक पैकेट एक राऊटर से दूसरे राऊटर तक जाता है उसे हॉप Hop कहते है. Q.2- इंटरनेट पर डेटा यात्रा कैसे करता है?  How does data travel over the Internet? Ans : जब डाटा इंटरनेट से एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाता है तो वो डाटा छोटे छोटे टुकड़ो में बट जाता है, जिसे पैकेट्स बोलते है .वो सभी पैकेट्स एक राऊटर से दूसरे राऊटर के तरफ इंटरनेट के सहायता से अपना सफर शरू करते है .फिर वो पैकेट्स लोकल इंटर्नेट  सर्विस  प्रोवाइडर  (ISP) local Internet service provider (ISP), मतलब जिस कंपनी से आप ने इंटरनेट सर्विस ली है वह जाते है .फिर ये डाटा पैकेट्स लॉन्ग हॉल  प्रोवाइडर long-haul provider यानी अपने फाइनल लक्ष्य पर पोहच जाते है.  

चीन से भारत की आयात निर्यात सम्बन्धी सवाल जवाब

India China Import And Export. चीन से भारत की आयात निर्यात बौहत पुराना है, और चीन और भारत आयात निर्यात की लिए एक दूसरे पैर बौहत निर्भर है. इस की एक वजह यह भी है की यह एक परोसी देश है, जो आसानी से आयात निर्यात कर सकते है.  Q1. चीन से भारत का आयात निर्यात कौन से सन में शुरू हुआ था? Ans .   चीन से भारत का आयात निर्यात 1980 (१९८०) से शरू हुआ. और   1984 में भरता  ने  चाइना के साथ मिल कर  के ट्रेड एग्रीमेंट पे हस्ताक्षर कए (Trade Agreement).  और  1994  में चीन और भारत  ने   F ull-Fledged Bilateral Trade की शुरवात की. Q2.   भारत एक वर्ष में चीन से इलेक्ट्रॉनिक वस्तु का कितना आयात करता है ? Ans . Electronics: Computer, Mobile, Electronics Equipment, etc during 2019 it was $19.97 Billion USD trade.   इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम्स जैसे कंप्यूटर, इलेक्ट्रॉनिक्स, इलेक्ट्रॉनिक्स इक्विपमेंट, मोबाइल आदि 2019 की हिसाब से $19.97 बिलियन डॉलर का आयात हुआ है.   Q3 .   आयात निर्यात से हमारे देश को क्या क्या फायदे और नुकसान हो सकते हैं ? Ans.   आयात और निर्यात के बहुत सारे फायदे और नुकसान होते हैं.

चीन से भारत में आयात किए जाने वाले खाद्य उत्पाद की सूची

चीन से भारत में आयात Food Items. चीन से भारत में बोहत सारे खाद पदार्थ आते है. भारत और चीन एक दूसरे पैर बोहत सारी चीज़ो पैर निर्भर है, बोहत सारी चीज़े चीन भारत से आयात करता है और भारत चीन से आयात करता है. आज चीन दुनया की सबसे बरी आयात और निर्यात की मार्किट बन चुका है. भारत चीन से बौहत सरे खाद पदार्थ का आयात करता है, जैसे मांस (Meat For Human Consumption) मछली और समुद्री जीव - भोजन की लिए (Fish And Sea Foods) सब्ज़ी  (Vegetables) बोहत सरे फल (All Types Of Fruits) ड्राई फ्रूट्स (Dry fruits) आटा गेहू (Wheat And Flour) तेल (Oil For Human Consumption) बीज (Seeds Like Pumpkin, San flower etc) दाल (Pulses) वसा  कॉफ़ी (Coffee) चाय (Tea) मसाले (Spices) अनाज  कन्फेक्शनरी आइटम्स (Confectionery Items) कोको (COCO) चीनी (Sugar) डेयरी जैसे प्रोडक्ट्स (Dairy Products) लहसुन  (Garlic) प्याज़  (Onion) अदरक (Ginger) हल्दी (Turmeric)  चीन से भारत में आयात किए जाने वाले उत्पाद की सूची  (What products that India imports from china?) चीन से भारत बोहत सारे चीज़े मगाता है. इस